WORLD DIALOGUE COUNCIL विश्व संवाद परिषद

विश्व संवाद परिषद विश्व में शांति, सद्भाव, मानवता, जैसे अनेक कार्यों के लिए परस्पर सामाजिक, सांस्कृतिक, साहित्यक, वैज्ञानिक, तार्किक संवाद करने व सम्बन्ध बनाने, उपयोगी विचारों के आदान प्रदान करने सहित श्रेष्ठतम् कार्य में सलग्न समाज सेवियों को सम्मानित, अलंकरण करने के लिए संकल्पित एक चैरिटेबिल ट्रस्ट है जो सुविख्यात समाजसेवी, पत्रकार, एवं अन्तर्राष्ट्रीय शांतिदूत आदरणीय श्याम पचौरी जी के नेतृत्व में एवं रिटायर्ड आईपीएस अरविंद पचौरी जी, यूनाइटेड नेशन, अमेरिका में प्रतिनिधि एवं ह्यूमन राइट काउंसिल ऑफ अमेरिका-सिकागो के अध्यक्ष डां. रामकृष्ण शाह जी, पदम्श्री आवार्डी आदरणीय डा. विजय कुमार शाह जी, एडवोकेट आलोक दलेला जी सहित अनेक महामानवों के सहयोग से राष्ट्र एवं जनहित में संचालित है।

विश्व संवाद परिषद 2 अक्टूबर 2019 को गांधी जयंती के सुअवसर पर संस्थापना के उपरान्त अपने विस्तार श्रंखला में सम्पूर्ण भारत में समाज सेवा कार्य करने के अतिरिक्त अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर भी जहाँ भारतीय दूतावास के द्वारा अन्य देशों से अन्तर्राष्ट्रीय शांति सद्भाव मानवता एवं सामाजिक सांस्कृतिक सम्बन्ध बेहतर हैं जैसे अमेरिका, ब्रिटेन, जापान, नेपाल, बंग्लादेश, भूटान, थाइलैंड, नाइजीरिया, फिलस्तीन, मलेशिया, फ्रान्स, इराक, अलबानियां, ब्राजील, स्वीडन, तुनसिया, बहराइन, तेहरान, अफ्रीका, दुबई सहित अनेक देशों में वहाँ परिषद की मूल भावना का प्रतिनिधित्व करने हेतु परिषद के अवैतनिक एम्बेस्डर नियुक्त हैं एवं प्रतिनिधित्व रहित क्षेत्रों में नियुक्ति प्रक्रिया निरंतर जारी है।

प्रस्तावित संकल्प एवं जनसेवा कार्य योजनाऐं

  •  विश्व में शांति सद्भाव
  • विश्व में जल, पर्यावरण एवं प्रकृति संरक्षण कार्य
  • महिला सुरक्षा एवं सम्मान कार्य
  • हिन्दी भाषा, साहित्य, काव्य प्रचार प्रसार एवं प्रकाशन कार्य
  • अन्तर्राष्ट्रीय सामाजिक एवं संस्कृति विचारों विस्तार कार्य
  • वर्ष 2025 तक विश्व के 100$ मित्र देशों में प्रतिनिधित्व का संकल्प
  • अन्तर्राष्ट्रीय सामाजिक संस्कृति विश्वविद्यालय की स्थापना
  • रक्त बैंक, स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिविरों का आयोजन
  • स्वच्छता, प्रशिक्षण, सामुदायिक प्रेरणा एवं अनुभव परिचर्चा कार्यक्रम
  • योग, प्राकृतिक चिकित्सा अनुसंधान एवं प्रचार प्रसार कार्य
  • वृ़द्ध, असहाय एवं अनाथ आश्रय की स्थापना
  • प्रतिभा चयन, प्रशिक्षण, प्रमाणीकरण, सम्मान अलंकरण एवं शोध कार्य।