FAQ 1. विश्व संवाद परिषद क्या है़ ?

विश्व संवाद परिषद विश्व स्तरीय विश्व शांति सद्भाव मानवता सामाजिक सांस्कृतिक कार्यांं के लिए समर्पित, भारत सरकार के ट्रस्ट एक्ट के अन्तरगत संस्थापित एवं नीति आयोग भारत सरकार द्वारा पंजीकृत चैरिटेबिल ट्रस्ट है।

FAQ 1. विश्व संवाद परिषद का क्या उद्देश्य है ?​

विश्व संवाद परिषद विश्व में शांति सद्भाव मानवता एवं सामाजिक सांस्कृतिक जैसे अनेक विभिन्न कार्यों के लिए परस्पर सम्बन्ध बनाने, विचारों के आदान प्रदान सहित श्रेष्ठ कार्य में सलग्न समाज सेवियों का सम्मान करने के लिए संकल्पित है।

FAQ 1. विश्व संवाद परिषद कब से कार्य कर रहा है ?

विश्व संवाद परिषद भारत में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी एवं यशस्वी प्रधानमंत्री लालबहादुर शास्त्री जी के जन्मदिवस 02 अक्टूबर 2019 से संस्थापित एवं सेवारत है।

FAQ 1. विश्व संवाद परिषद कहाँ कहाँ काम कर रहा है ?

विश्व संवाद परिषद सम्पूर्ण भारत के अतिरिक्त अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर भी जहाँ भारतीय दूतावास के द्वारा अन्य देशों से अन्तर्राष्ट्रीय शांति सद्भाव मानवता एवं सामाजिक सांस्कृतिक सम्बन्ध बेहतर हैं जैसे अमेरिका, ब्रिटेन, जापान, नेपाल, बंग्लादेश, भूटान, थाइलैंड, नाइजीरिया, फिलस्तीन, मलेशिया, फ्रान्स, इराक, अलबानियां, ब्राजील, स्वीडन, तुनसिया, बहराइन, तेहरान, अफ्रीका, दुबई सहित अनेक देशों में परिषद के एम्बेस्डर नियुक्त हैं एवं नियुक्ति प्रक्रिया निरंतर जारी है।

FAQ 1. विश्व संवाद परिषद को कौन संचालित कर रहा है ?

विश्व संवाद परिषद एक चैरिटेबिल ट्रस्ट है जो सुविख्यात समाजसेवी, पत्रकार, एवं अन्तर्राष्ट्रीय शांतिदूत आदरणीय श्याम पचौरी जी के नेतृत्व में एवं रिटायर्ड आईपीएस अरविंद पचौरी जी, यूनाइटेड नेशन, अमेरिका में प्रतिनिधि एवं ह्यूमन राइट काउंसिल ऑफ अमेरिका-सिकागो के अध्यक्ष डां. रामकृष्ण शाह जी, पदम्श्री आवार्डी आदरणीय डा. विजय कुमार शाह जी, एडवोकेट आलोक दलेला जी सहित अनेक महामानवों के सहयोग से राष्ट्र एवं जनहित में संचालित है।

FAQ 1. विश्व संवाद परिषद से कैसे जुड़ सकते हैं ?

विश्व संवाद परिषद से जुड़ने के लिए मातृ संस्था से एम्बेस्डर के रूप में जुड़ सकते हैं। साथ ही इसके विभिन्न प्रकल्प भी कार्यरत हैं जहाँ आप अपनी भावना के अनुसार किसी भी प्रकोष्ठ से अपनी छमता के अनुसार जुड़ सकते हैं।
जुड़ने के लिए वैबसाइट www.samvadonline.org पर Join बटन पर क्लिक कर वांछित जानकारी व सहयोग सम्मिलित करें।

विश्व संवाद परिषद के कौन कौन से प्रकल्प प्रकोष्ठ संचालित हैं ?

विश्व संवाद परिषद द्वारा निम्न प्रकोष्ठ संचालित/प्रस्तावित हैं।

  • योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा प्रकोष्ठ
  • महिला प्रकोष्ठ
  • हिन्दी साहित्य एवं काव्य प्रकोष्ठ
  • युवा प्रकोष्ठ
  • विद्यार्थी प्रकोष्ठ
  • शिक्षक प्रकोष्ठ
  • राष्ट्रीय चिंतक एवं प्रबु़द्ध प्रकोष्ठ
  • धर्म एवं संस्कार प्रकोष्ठ
  • मानवता एवं समाजसेवा प्रकोष्ठ
  • कला एवं सांस्कृतिक प्रकोष्ठ
  • चिकित्सक प्रकोष्ठ
  • सोशल मीडिया प्रकोष्ठ
  • प्रकृति एवं पर्यावरण प्रकोष्ठ
  • सर्वधर्म सम्मान प्रकोष्ठ
  • यशस्वी ;सेलीब्रिटीद्ध प्रकोष्ठ
  • कानून एवं न्यास प्रकोष्ठ
  • सेवा निवृत कर्मचारी प्रकोष्ठ
  • किसान मजदूर प्रकोष्ठ

FAQ 1. विश्व संवाद परिषद से जुड़ने के लिए कोई शुल्क देना होगा ?

विश्व संवाद परिषद से जुड़ने के लिए किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं है मगर 1 जनवरी 2021 से सामाजिक सेवा कार्य एवं संस्था के संचालन के लिए परिषद से जुड़ने वाले सभी सहयोगियों से अपेक्षा अवश्य की जाती है कि दान सहयोग के रूप में अपना अपेक्षित अंशदान या अपनी छमतानुसार स्वेच्छानुसार अधिक भी पेटीम, फोनपै, द्वारा या सीधे बैंक खाते में जमा किया जा सकता है।

अपेक्षित एवं प्रार्थनीय सहयोग

वालियंटर – निः शुल्क
सदस्य – भारतीय रूपये 200 मात्र
राज्य एम्बेस्डर – भारतीय रूपये 1000 मात्र
राष्ट्रीय एम्बेस्डर – भारतीय रूपये 3000 मात्र
अन्तर्राष्ट्रीय एम्बेस्डर – भारतीय रूपये 5000 मात्र

FAQ 1. विश्व संवाद परिषद में हमारे क्या दायित्व एवं कर्तव्य होंगे ?

दायित्व एवं कर्तव्य

वॉलियंटर -

कोई भी मानसिक रूप से स्वस्थ भारतीय नागरिक महिला / पुरूष जो निः स्वार्थ भाव से राष्ट्रसेवा एवं जनसेवा के लिए संकल्पित है एवं अपनी इच्छानुसार शारीरिक / आर्थिक एवं मानसिक रूप से विश्व संवाद परिषद को सहयोग करना चाहते हैं उन सभी का हार्दिक स्वागत अभिनन्दन है।
वॉलियंटर को नियुक्ति प्रमाणपत्र ससम्मान ऑनलाइन उनकी ईमेल पर भेजा जायेगा एवं फेसबुक पेज पर भी अपलोड किया जायेगा।
विभिन्न कार्यक्रमों की सूचनाऐं फेसबुक पेज से प्राप्त की जा सकतीं हैं एवं अपनी छमता एवं समय उपलब्धा के आधार पर आप सहयोग सेवा कार्य योजनाओं में भाग लेने के लिए आयोजन प्रारम्भ होने के 48 घंटे पूर्व अपनी स्वीकृति स्थानीय आयोजक को उपलब्ध करा कर, स्वीकृति अवश्य प्राप्त कर लें।
वॉलियंटर को स्थानीय किसी भी बैठक या आयोजन में अपना मत देने का अधिकार तभी प्राप्त होगा जब स्थानीय टीम के विभिन्न आयोजनों में कम से कम 10 आयोजनों में अपनी सेवा भागीदारी उस टीम कार्यालय में अंकित करायी हो।

सदस्य -

कोई भी मानसिक रूप से स्वस्थ एवं बालिग भारतीय नागरिक महिला / पुरूष जो निः स्वार्थ भाव से राष्ट्रसेवा एवं जनसेवा कार्यों के लिए संकल्पित है एवं अपनी इच्छानुसार शारीरिक / आर्थिक एवं मानसिक रूप से विश्व संवाद परिषद को सहयोग करना चाहते हैं उन सभी का हार्दिक स्वागत अभिनन्दन है।
सदस्य को नियुक्ति प्रमाणपत्र ससम्मान ऑनलाइन उनकी ईमेल पर भेजा जायेगा एवं फेसबुक पेज एवं परिषद की वैबसाइट पर भी अपलोड किया जायेगा।
विभिन्न कार्यक्रमों की सूचनाऐं फेसबुक पेज से प्राप्त की जा सकतीं हैं एवं अपनी छमता एवं समय उपलब्धा के आधार पर आप सहयोग सेवा कार्य योजनाओं में भाग लेने के समन्वय स्थानीय आयोजक से करके स्वीकृति अवश्य प्राप्त कर लें।
सभी सम्मानित एवं वैध सदस्यों को स्थानीय किसी भी बैठक या आयोजन में सम्मिलित होने एवं अपने मत देने का अधिकार स्थानीय इकाई में संरक्षित है।
योग्यवान एवं छमतावान सदस्य जनहित योजनाओं की अपनी स्थानीय इकाई में योग्य दायित्व प्रभार ग्रहण एवं निर्वाहन कर सकते हैं।

एम्बेस्डर -

कोई भी मानसिक रूप से स्वस्थ भारतीय नागरिक महिला / पुरूष जो निः स्वार्थ भाव से राष्ट्रसेवा एवं जनसेवा के लिए संकल्पित है एवं अपनी इच्छानुसार शारीरिक / आर्थिक एवं मानसिक रूप से विश्व संवाद परिषद को अपने प्रदेश / देश / अन्तर्राष्ट्रीय में सहयोग करना चाहते हैं उन सभी का हार्दिक स्वागत अभिनन्दन है।
विश्व स्तर पर अन्य देशों में परिषद का प्रतिनिधित्व करने के लिए मानसिक रूप से स्वस्थ एवं किसी भी न्यायालय द्वारा दोषी घोषित न किया गया हो, एवं भारतीय संविधान में विश्वास एवं सहयोग भाव रखने वाले समाज सेवी को परिषद का अवैतनिक एम्बेस्डर नियुक्ति किया जा सकता है।
एम्बेस्डर को नियुक्ति प्रमाणपत्र ससम्मान ऑनलाइन उनकी ईमेल पर भेजा जायेगा एवं फेसबुक पेज एवं परिषद की वैबसाइट पर भी अपलोड किया जायेगा।
अन्तर्राष्ट्रीय स्तरीय विभिन्न कार्यक्रमों की सूचनाऐं फेसबुक पेज से प्राप्त की जा सकतीं हैं एवं अपनी छमता एवं समय उपलब्धा के आधार पर ऑनलाइन आप सहयोग सेवा कार्य योजनाओं में भाग लेने के समन्वय स्थानीय आयोजक से करके स्वीकृति अवश्य प्राप्त कर लें।
विदेशी एम्बेस्डर को भारतीय किसी इकाई में मताधिकार नहीं है।
वहीं उनके प्रशंसनीय कार्यों के लिए समय समय पर सम्मानित किया जायेगा।